Wednesday, February 8, 2023
spot_imgspot_img

केदारनाथ और हेमकुंड साहिब के लिए किया जाएगा दो हजार करोड़ से अधिक लागत से रोपवे का निर्माण

देहरादून। एनएचएआई की एजेंसी नेशनल हाईवे लॉजिस्टिक मैनेजमेंट लिमिटेड ने केदारनाथ और हेमकुंड साहिब के रोपवे के लिए डीपीआर तैयार कर ली है, वहीं दोनों रोपवे का निर्माण दो हजार करोड़ से अधिक लागत से किया जाएगा। अब वन भूमि हस्तांतरण के लिए केंद्र के साथ प्रक्रिया चल रही है। इसके अलावा पांच और रोपवे के लिए एनएचएआई ने सर्वे का काम शुरू कर दिया है।

सोमवार को पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की अध्यक्षता में उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद की 22वीं बोर्ड बैठक में कई प्रस्तावों को स्वीकृति दी गई। सोनप्रयाग से केदारनाथ रोपवे का निर्माण 1200 करोड़ और हेमकुंड साहिब से गोविंदघाट रोपवे का निर्माण 850 करोड़ से किया जाएगा।

इसके अलावा पंच कोटी से बौराड़ी, बलाटी बैंड से खलिया टॉप, ऋषिकेश से नीलकंठ, औली से गौरसौं और रानीबाग से हनुमान गढ़ मंदिर के बीच रोपवे के लिए सर्वेक्षण शुरू कर दिया गया है।

पर्यटन मंत्री ने कहा कि औली को साहसिक गतिविधियों के लिए ट्रेनिंग हब के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके लिए मास्टर प्लान के लिए 1.50 करोड़ की स्वीकृति दी गई। बुग्यालों में ट्रेकिंग को शुरू करने के लिए सरकार प्रयास करेगी। ट्रेकिंग की अनुमति के लिए हाईकोर्ट के समक्ष पक्ष रख जाएगा।

बोर्ड बैठक में परिषद के माध्यम से होने वाली विभिन्न गतिविधियों को मंजूरी दी गई। परिषद के ढांचे में 94 अतिरिक्त पदों के सृजन का प्रस्ताव भी शासन को भेजने का निर्णय लिया गया। वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए परिषद की गतिविधियों को संचालित करने के लिए कुल 55 करोड़ के बजट पारित किया गया।

पैराग्लाइडिंग, माउंटेन बाइकिंग, एडवेंचर समिट, स्कीइंग चैंपियनशिप, टिहरी झील महोत्सव, योग महोत्सव के आयोजन का प्रस्ताव बोर्ड में रखा गया। पर्यटन के प्रचार-प्रचार के लिए 30 करोड़ की धनराशि का प्रावधान किया गया है।

बैठक में ये रहे मौजूद 
सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी पर्यटन पूजा गर्ब्याल, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी (साहसिक विंग) कर्नल अश्विनी पुंडीर, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी पीके पात्रो, केएमवीएन के प्रबंध निदेशक विनीत तोमर, लोक निर्माण विभाग के अपर सचिव अतर सिंह, ऊर्जा विभाग के उप सचिव प्रकाश चंद्र जोशी, बोर्ड के सदस्य जगदीश चंद्रा, बसंत सिंह बिष्ट, किशोर कुमार यादव, उत्तरा बिष्ट, मीरा रतूड़ी, यूटीडीबी के निदेशक (इन्फ्रा) ले. कमांडर दीपक खंडूड़ी, अपर निदेशक पूनम चंद, अपर निदेशक विवेक सिंह चौहान, उप निदेशक योगेंद्र कुमार गंगवार आदि मौजूद थे।

ये महत्वपूर्ण निर्णय भी लिए

हुनर से रोजगार योजना के तहत कुकिंग, सर्विस, हाउस किपिंग, फ्रट ऑफिस के लिए 200 व्यक्तियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। कैरावान टूरिज्म, चाय बगान टूरिज्म, होम स्टे टूरिज्म, नेचर गाइड में भी युवाओं को प्रशिक्षण देने का निर्णय लिया गया।

बैठक में ऋषिकेश में गंगा क्याक फेस्टिवल, टिहरी में कैनोइंग फेस्टिवल, बौर जलाशय में क्याकिंग चैंपियनशिप, योग महोत्सव, छोटा कैलाश माउंटेरिंग अभियान, पिंडारी में ट्रेक ऑफ-द इयर के साथ हाई एंड लो एल्टीटयूड ट्रेकिग ट्रेनिंग के प्रस्ताव पर सहमति दी गई।

जार्ज एवरेस्ट सड़क को डबल लेन करने, सतपुली कार पार्किंग निर्माण, कण्वाश्रम का पुनर्निर्माण, केदारनाथ धाम में यात्री शेल्टर, विभाग के लिए इलेक्ट्रिक वाहन का क्रय, पर्यटन मुख्यालय के परिसर की सुरक्षा के लिए टेंडर करने का निर्णय लिया गया। परिषद में तैनात पीआरडी और उपनल कर्मचारियों को बोनस देने का परीक्षण कर अगली बोर्ड बैठक में प्रस्ताव रखा जाएगा।

- Advertisement -spot_img

Latest Articles