Sunday, January 29, 2023
spot_imgspot_img

चंपावत और एबट माउंट में बनेगा हेली-पोर्ट, पंचेश्वर में होगा एंगलिंग समिट : सचिव पर्यटन

चंपावत। कुँमाऊँ भ्रमण के दौरान सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने चंपावत चाय बागान, एबट माउंट हैरिटेज साइट, पंचेश्वर एंगलिंग साइट और अद्वैत आश्रम मायावती का भ्रमण निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री घोषणाओं की प्रगति का जायजा लेने के साथ ही स्थानीय हितधारकों से भी बातचीत की और संबंधित अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि चंपावत व एबट माउन्ट में हैलीपोर्ट के निर्माण हेतु डी0पी0आर0 तैयार करने के निर्देश जिला प्रशासन को दिए गए है।

एबट माउन्ट के निरीक्षण के दौरान उन्होंने यहां पर स्थित चर्च का भ्रमण किया और इसके पुनरूद्धार के संबंध में जनपदीय कार्यालय के स्तर से प्रस्तावित प्रोजक्ट पर सैद्धान्तिक सहमति प्रदान की। इसके पश्चात उनके द्वारा एबट माउन्ट स्थित पर्यटन विभाग की भूमि का निरीक्षण किया गया। उन्होंने राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये कि एक सप्ताह के भीतर समस्त भू-अभिलेखों का डिजीटलीकरण कर लिया जाये। उन्होंने भूमि के चारों ओर चाहरदीवारी के निर्माण हेतु निर्देश दिये ताकि किसी भी प्रकार के अवैध कब्जे की संभावना को निरस्त किया जा सके। उन्होंने इस स्थान को ’बर्ड वाॅचिंग ट्रेल’ के रूप में विकसित करने हेतु प्रस्ताव उपलब्ध कराने के निर्देश दिये।

इसके बाद उन्होंने पंचेश्वर स्थित प्रस्तावित एंगलिंग साइट का निरीक्षण किया। जहां पर स्थानीय समुदाय के लोगों ने भी अपने सुझावों के साथ सचिव पर्यटन से चर्चा की। सचिव पर्यटन ने कहा कि पंचेश्वर एंगलिंग के लिए एक आदर्श स्थान और यही कारण है कि विश्व भर के एंगलिंग प्रेमी यहां आना चाहते है। उन्होंने जिला पर्यटन विकास अधिकारी को एंगलिंग बीट हेतु आवश्यक सुविधायें विकसित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही यहां पर पर्यटन विभाग द्वारा आयोजन कराया जायेगा।

इससे पूर्व उनके द्वारा 13 डिस्ट्रिक 13 डेस्टिनेशन योजना के अन्तर्गत चाय बागान का निरीक्षण किया गया। उन्होंने कहा कि चाय स्वरोजगार की एक नई पहल है। पर्यटन विभाग द्वारा चंपावत चाय फैक्ट्री से चाय क्रय करते हुए सोविनियर के रूप में गणमान्य लोगों को भेंट की जायेगाी ताकि इसे ब्रांड के रूप में विकसित किया जा सके। उन्होंने चाय बगान के समीपस्थ भूमि को ईको पार्क के रूप में विकसित करने के निर्देश दिये। उन्होंने स्थानीय हितधारकों को आश्वस्त किया कि मुख्यमंत्री घोषणा के अन्तर्गत हिंगला देवी से चंपावत चाय बगान के मध्य रोपवे निर्माण हेतु शीघ्र कार्यवाही आरम्भ की जायेगी।

भ्रमण के दौरान सचिव पर्यटन द्वारा लोहाघाट स्थित ग्रोथ सेन्टर का भी निरीक्षण किया गया। ज्ञातव्य है कि उद्योग विभाग के माध्यम से संचालित इस ग्रोथ सेन्टर में लोहे के बर्तन एवं उपकरण आदि का निर्माण किया जाता है। इसके पश्चात उन्होंने देवीधूरा स्थित वाराही मंदिर में स्वदेश योजना के अन्तर्गत हैरीटेज सर्किट के विकास कार्यों का निरीक्षण किया। इस दौरान भिन्न-भिन्न अवसरों पर जिलाधिकारी नरेन्द्र भण्डारी, एस0डी0एम0 सदर, अनिल चन्याल, जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविन्द गौड़, एस0डी0एम0 लोहाघाट रिंकू बिष्ट, कुँमाऊँ मण्डल विकास निगम के अधिकारी आदि मौजूद रहे।

- Advertisement -spot_img

Latest Articles