Thursday, June 8, 2023
spot_imgspot_img

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं न करें यह काम

अधिकांश महिलाएं गर्भावस्था के दौरान अपनी रोजमर्रा की एक्टिविटी को ही जारी रख सकती हैं, बस उन्हें अपने लाइफस्टाइल में कुछ बदलाव करने होते हैं और कुछ खाने की चीजों से बचना होता है। अगर महिलाएं ऐसा नहीं करती हैं तो उनकी और भ्रूण की सेहत पर गलत असर पड़ सकता है। आज इस आर्टिकल में कुछ ऐसी चीजों के बारे में बता रहे हैं जिनका कंसीव करने के बाद सेवन नहीं करना चाहिए।

अल्कोहल का सेवन
जब एक गर्भवती महिला शराब पीती है तो शराब प्लैसेंटा पार कर जाती है और भ्रूण को प्रभावित कर सकती है। इससे भ्रूण अल्कोहल सिंड्रोम भी हो सकता है। गर्भ में शराब के संपर्क में आने से भ्रूण अल्कोहल सिंड्रोम संबंधित कई समस्याएं हो सकती हैं।

ज्यादा कैफीन
जिस तरह शराब प्लैसेंटा को पार कर जाती है, उसी तरह कैफीन भी प्लेसेंटा को पार कर सकती है और भ्रूण को प्रभावित कर सकती है। कुछ रिसर्च बताती हैं कि रोजाना 300 मिलीग्राम से अधिक कैफीन का सेवन नहीं करना चाहिए। कुछ एक्सपर्ट का मानना है कि इससे अधिक मात्रा भ्रूण के लिए हानिकारक हो सकती है और बच्चे को नुकसान हो सकता है।
हॉट बॉथ और ओवरहीटिंग
अमेरिकन प्रेग्नेंसी एसोसिएशन के अनुसार, हॉट टब हाइपरथर्मिया या असामान्य रूप से शरीर का तापमान बढ़ा देते हैं। इससे बच्चे में कई असामान्यताएं हो सकती हैं इसलिए नीचे बताई हुई एक्टिविटी प्रेग्नेंसी के दौरान करने से बचें:
हॉट योग या पिलाटीज
देर तक धूप में बैठना
अधिक गर्म जगह पर बैठना
डिहाइड्रेशन
कुछ प्रकार की एक्सरसाइज
गर्भावस्था के दौरान चलना, तैरना और स्क्वॉट करना फायदेमंद हो सकता है। लेकिन इससे पहले भी डॉक्टर की सलाह लें। लेकिन गर्भवती महिलाओं को नीचे बताई हुई एक्सरसाइज को करने से बचना चाहिए:
जंपिंग एक्सरसाइज
झटका लगने वाली एक्सरसाइज
पहले तीन महीने के बाद सिटअप, क्रंचेज जैसी एक्सरसाइज
हैवी लिफ्टिंग

धूम्रपान
गर्भावस्था के दौरान सिगरेट पीने से महिला और बच्चे दोनों को नुकसान हो सकता है। इससे हार्ट डिसीज और फेफड़े के कैंसर का जोखिम तो बढ़ता ही है साथ ही साथ गर्भवस्था के दौरान स्मोकिंग करने से नीचे बताई हुई समस्याएं भी हो सकती हैं:
समय से पहले जन्म
जन्मजात असामान्यताएं
अचानक से बच्चे की डेथ होना
प्लेसेंटा की समस्याएं

- Advertisement -spot_img

Latest Articles